Sunday, May 19, 2024
HomeChhattisgarhछत्तीसगढ़ में फिर ED की दबिश, उद्योगपति के ठिकानों पर छापा

छत्तीसगढ़ में फिर ED की दबिश, उद्योगपति के ठिकानों पर छापा

रायपुर. Chhattisgarh में आज सुबह प्रवर्तन निदेशालय (ED) की टीम ने एक बड़े उद्योग समूह के मालिक समेत कई दूसरे लोगों के ठिकानों पर छापेमार कार्रवाई की है। मिली जानकारी के मुताबिक मंदिर हसौद के पास बहनाकाड़ी गांव के जमीन दलाल और VIP करिश्मा अपार्टमेंट में एक सीए के यहां भी ED ने दबिश दी है। गोरे परिसर स्थित कांग्रेस के नेता रामगोपाल अग्रवाल के ऑफिस में भी जांच जारी है।

ईडी द्वारा भिलाई, बिलासपुर और रायगढ़ में भी छापे की खबर है। लेकिन एजेंसियों ने अभी तक इसकी पुष्टि नहीं की है। लेकिन सुबह से ही CRPF के जवानों को अधिकारियों की सुरक्षा के लिए तैनात देखा गया।

सुबह से ही टीम ने उक्त ठिकानों में पहुंचकर दस्तावेज खंगाले जा रहे हैं। मामले को कोल कारोबार में हुई मनी लॉन्ड्रिंग से भी जोड़कर देखा जा रहा है। कुछ महीनों में Chhattisgarh में ED की गतिविधियां बढ़ी है। इससे पहले ईडी ने कई कांग्रेस नेताओं और उससे पहले अधिकारियों के ठिकानों पर छापेमार कार्रवाई की थी।

पहले भी पड़ चुके हैं छापे

इससे पहले ED ने कांग्रेस नेताओं के यहां दबिश दी थी। राष्ट्रीय अधिवेशन से ठीक पहले हुई छापेमारी कार्रवाई का कांग्रेस नेताओं ने विरोध भी किया था। पहले प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कोषाध्यक्ष रामगोपाल अग्रवाल, श्रम कल्याण मंडल अध्यक्ष सन्नी अग्रवाल, विधायक देवेंद्र यादव, प्रवक्ता आरपी सिंह और विनोद तिवारी के यहां ED की कार्रवाई हुई थी।

कोयला लेवी घोटाला केस में IAS और 9 लोग जेल में बंद

वहीं कुछ महीने पूर्व हुई कार्रवाई के दौरान जांच एजेंसी ने बताया था कि Chhattisgarh में ट्रांसपोर्ट किए जाने वाले हर टन कोयले पर 25 रुपए की अवैध वसूली की गई थी। इसमें राजनेता, सरकारी अफसर और व्यापारी शामिल थे। ED के मुताबिक, 2021 में 500 करोड़ रुपए की अवैध वसूली की गई थी। अक्टूबर 2022 में भी ED ने इस घोटाले के सिलसिले में 40 ठिकानों पर छापा मारा था। इस दौरान 4 करोड़ नगद, करोड़ों की संपत्ति और दस्तावेज बरामद किए गए थे।

इस मामले में एक IAS और 9 कारोबारी जेल में बंद हैं। 13 अक्टूबर 2022 को छत्तीसगढ़ इंफोटेक प्रमोशन सोसाइटी-चिप्स के CEO समीर विश्नोई, कोयला कारोबारी सुनील अग्रवाल और वकील-कारोबारी लक्ष्मीकांत तिवारी को अरेस्ट किया था। वहीं 29 अक्टूबर को कारोबारी सूर्यकांत तिवारी ने अदालत में आत्मसमर्पण किया था। दूसरी ओर राज्य सेवा की अफसर सौम्या चौरसिया को गिरफ्तार किया गया। इसके बाद दो खनिज अफसरों समेत 4 लोगों को अरेस्ट किया गया।

CG: छत्तीसगढ़ के इस जिले में मिले Covid-19 के मरीज, हेल्थ विभाग ने लिया सैंपल

Admin
Adminhttps://www.babapost.in
हम पाठकों को देश में हो रही घटनाओं से अवगत कराते हैं। इस वेब पोर्टल में आपको दैनिक समाचार, ऑटो जगत के समाचार, मनोरंजन संबंधी खबर, राशिफल, धर्म-कर्म से जुड़ी पुख्ता सूचना उपलब्ध कराई जाती है। babapost.in खबरों में स्वच्छता के नियमों का पालन करता है। इस वेब पोर्टल पर भ्रामक, अपुष्ट, सनसनी फैलाने वाली खबरों के प्रकाशन नहीं किया जाता है।
RELATED ARTICLES

Most Popular