Saturday, May 18, 2024
HomeChhattisgarhमहासमुंद जिले में ट्रिपल मर्डर का खुलासा, बेटा बना हैवान, मां, बाप...

महासमुंद जिले में ट्रिपल मर्डर का खुलासा, बेटा बना हैवान, मां, बाप और दादी का मर्डर कर मौजमस्ती में उड़ाए पैसे

महासमुंद.  जिले के थाना सिंघोंडा क्षेत्र में हुए ट्रिपल मर्डर का एसपी ने खुलासा किया। एसपी धर्मेंद्र सिंह ने बताया कि बेटे ने अपने मां, बाप और दादी की हत्या कर उनके शवों को जला दिया था। इसके बाद वह अपने  प्राचार्य पिता प्रभात भोई, माता एवं दादी के गुम होने की झूठी रिपोर्ट लिखा कर रिश्तेदारों और पुलिस को गुमराह कर रहा था। आरोपी के पिता प्रभात भोई हॉयर सेकंडरी स्कूल पैकिन के प्राचार्य थे।

पुलिस ने बताया कि आरोपी उदित भोई अनुकंपा नियुक्ति पाने व अपनी बुरी आदतों और पैसों की जरूरतों को लेकर माता-पिता से विवाद करता था। इस मामले का खुलासा करते पुलिस ने हुए बताया आरोपी उदित भोई (पुत्र) ने हॉकी के स्टीक से आधी रात सोए हुए पिता, माता और दादी की हत्या कर दी और लाश घर के बाथरूम के पीछे ही छिपा दिया और फिनायल से घर को साफ कर अगले 3 दिनों तक धीरे-धीरे तीनो की लाश को सैनेटाईजर डालकर जलाता रहा।

साथ ही आरोपी उदित भोई माँ बाप दादी की हत्या करने के बाद  उनके पैसों को बेहिसाब खर्च किया और 4 दिनों में ही नया पलंग,  अलमारी, एसी, मोबाईल व कई सामग्रियां खरीद डाली।  आरोपी के विलासिता पूर्ण जीवन के चलते पुलिस को उस पर संदेह हुआ और उससे  पूछताछ शुरू को गई थी।

पुलिस ने बताया कि ग्राम पुटका थाना सिंघोड़ा निवासी उदित भोई उम्र 24 वर्ष 12 मई को सूचना दी थी कि कि उनके पिताजी प्रभात भोई पिता अंतर्यामी भोई उम्र 53 वर्ष निवासी पुटका 8 मई के सुबह इलाज कराने रायपुर जा रहा हूूॅ कहकर पत्नी सुलोचना भोई उम्र 47 वर्ष एवं अपनी मां झरना भोई उम्र 75 वर्ष के साथ घर से निकले है जो आज तक घर वापस नही आये है। पुलिस इसकी जांच कर रही थी कि प्रभात कुमार भोई का दूसरा बेटा अमित कुमार भोई जो पं0 जवाहरलाल नेहरू मेडिकल काॅलेज रायपुर में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहा है अपने घर ग्राम पुटका आया तो उनके चाचा पंचानन भाई ने उसे बताया कि तुम्हारे पिता प्रभात भोई, माॅ झरना बाई एवं दादी सुलोचना भोई 8 मई से घर पर नही है। जिसकी सूचना थाना सिंघोड़ा में देकर तुम्हारा बड़ा भाई उदित भोई गुम इंसान रिपोर्ट दर्ज कराया है।

मर्डर का खुलासा

 

अमित कुमार भोई अगले दिन सुबह चाचा पंचानन भोई के साथ अपने घर ग्राम पुटका गया तो घर पर बड़ा भाई उदित भोई नही था, घर के बाड़ी तरफ गया तो बाड़ी में कुछ जलाने का निशान देखा। जला हुआ राख को हटाया तो उसमें मानव हड्डी के टुकडे़ पड़े मिले। अमित कुमार पूरे घर को चेक किया तो हाल के दीवार पर खून के छींटे तथा बाडी में स्थित बाथरूम में खून जैसा धब्बा, बाड़ी में जलाने का निशान, बगल में एक छोटे से गड्ढे में राख का ढेर था, घर से पिता, माता एवं दादी गायब थे। यह सब देखकर अमित कुमार को कुछ अनहोनी होने का संदेश हुआ और अविलंब थाना सिंघोड़ा आकर इसी सूचना दिया।

प्रार्थी की सूचना पर थाना सिंघोड़ा की टीम तत्काल ग्राम पुटका पहुँचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया तो बाड़ी में जलाने का निशान, राख के ढ़ेर में हड्डी, घर के हाल एवं बाथरूम में खून की छींटे दिखी।घटनास्थल पर मिलने साक्ष्यों के आधार पर प्रथम दृष्टया गुम इंसान प्रभात भोई, झरना बाई एवं सुलोचना बाई का संदेहास्पद मृत्यु होना एवं आरोपी द्वारा साक्ष्य छिपाने का भरसक प्रयास करना प्रतीत हो रहा था। जिसकी सूचना वरिष्ठ अधिकारी को दिया गया, पुलिस महानिरीक्षक रायपुर क्षेत्र रायपुर शेख आरिफ हुसैन (IPS) के मार्गदर्शन में पुलिस अधीक्षक धर्मेन्द्र सिंह (IPS) द्वारा तीन व्यक्तियो का अचानक गायब हो जाना व उनके घर में जला हुआ मानव हड्डी, हाल में खून के छिटे, घर में हुये जघन्य अपराध हत्या की जांच हेतु अति. पुलिस अधीक्षक आकाश राव एवं अनु. अधिकारी (पु) महासमुंद अभिषेक केशरी के निर्देशन में थाना सिंघोड़ा एवं सायबर सेल से टीम का गठन किया गया।

पुलिस टीम अलग-अलग दिशा में कार्य कर उनकी परिवारिक दिनचर्या के बारे में जानकारी प्राप्त किया तो पता चला कि गुम इंसान प्रभात भोई घर में पत्नी झरना माॅ सुलोचना बाई एवं पुत्र उदित भोई के साथ रहते थे। प्रभात भोई का छोटा लड़का अमित कुमार भोई मेडिकल काॅलेज रायपुर में पढ़ाई कर रहा है। बड़ा लड़का उदित भोई नशे का आदी है। अनुकंपा नियुक्ति और पैसे की बात को लेकर आये दिन माता-पिता एवं दादी से वाद-विवाद करता रहता था। उदित भोई को हिरासत में लेकर बाड़ी में क्या जलाना, राख में मिले हड्डी के टुकडे़ किनके हैं, दीवारों पर खून के छींटे किनके है, आदि सवाल पूछे गए।

जिस पर उदित पुलिस को गुमराह करने लगा और गोलमोल जवाब देने लगा। पुलिस की टीम के द्वारा तथ्यों के आधार पर कड़ाई से पूछताछ किया तो वह अंततः टूट गया व अपना अपराध छिपा नही सका और अपने माता-पिता एवं दादी की हत्या करना स्वीकार करते हुये बताया कि घटना दिनांक के पूर्व में हुये रूपये-पैसे को लेकर पिता प्रभात भोई के बीच झगड़ा विवाद होने के कारण माता-पिता से नाराज होकर अपने कमरे में सो गया था। 7-8 मई की दरम्यानी रात्रि करीबन 02-03 बजें के मध्य जब उठकर देखा तो इनके माता-पिता एवं दादी कमरे में सो रहे थे। जिसका फायदा उठाकर जान से मारने की नियम से अपने पास रखे हॉकी स्टीक से पिता प्रभात भोई, माता झरना बाई एवं दादी सुलोचना बाई की सिर में प्राणघातक हमला कर हत्या कर दिया और शव को बाड़ी में बने बाथरूम के तरफ रखा दिया।

घटना के दो दिन बाद दिनांक 10 और 11 को तीनों के शव को घर में रखे लकड़ी से जला दिया। शव को जलाने के बाद बचे राख एवं हड्डी को वही पास एक छोटा गड्ढे में दबा दिया था। हत्या करने के बाद साक्ष्य छिपाने हेतु घर को अच्छी तरह सफाई कर दिया था और अपने पिता प्रभात भोई को जिन्दा बताने हेतु उनके फोन-पे के माध्यम से खरीदारी कर रहा था, किन्तु पुलिस से कुछ भी छिपा नही पाया। आरोपी के निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त हॉकी स्टीक, सेनेटाइजर, लाईटर को दीवार पलंग के अंदर छिपाकर रखा था जिसे जप्त कर लिया गया है। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

छत्तीसगढ़ में भीषण हादसे से मचा हाहाकार, ट्रक और पिकअप में टक्कर से 6 लोगों की मौत, 20 से ज्यादा घायल

Admin
Adminhttps://www.babapost.in
हम पाठकों को देश में हो रही घटनाओं से अवगत कराते हैं। इस वेब पोर्टल में आपको दैनिक समाचार, ऑटो जगत के समाचार, मनोरंजन संबंधी खबर, राशिफल, धर्म-कर्म से जुड़ी पुख्ता सूचना उपलब्ध कराई जाती है। babapost.in खबरों में स्वच्छता के नियमों का पालन करता है। इस वेब पोर्टल पर भ्रामक, अपुष्ट, सनसनी फैलाने वाली खबरों के प्रकाशन नहीं किया जाता है।
RELATED ARTICLES

Most Popular